Mouse क्या है? - माउस के प्रकार कितने है? - What is Mouse in Hindi?

नमस्कार दोस्तों, अगर आप Internet पर Mouse क्या है? और Mouse के प्रकार जानने के लिए Search कर रहे  है। तो आप बिलकुल सही Article पर आये है। आज इस आर्टिकल मे हम जानेंगें की Computer  Mouse Kya Hai? और Types of Mouse क्या है?

दुनिया के हर Computer User ने अपने जीवन में Mouse का प्रयोग जरूर किया है। यह छोटा Device हमारे कंप्यूटर System से USB Wire के माध्य्म से जुड़ा होता है। और इसी की प्रयोग से हम कंप्यूटर में अपने कठिन से कठिन कार्यो को बड़ी सरलता से पूरा कर लेते है।

Computer Mouse का प्रयोग करते समय क्या कभी आपने सोचा है। कि कंप्यूटर Mouse किस प्रकार काम करता है, माउस के जनक कौन है, माउस की विशेषताएं और माउस क्या है? अगर यह सवाल आपके दिमाग में चल रहे है। तो चलिए आपके इन्ही सवालों का हल करते है और जानते है। कंप्यूटर माउस बारे में,

माउस क्या है , माउस के प्रकार , Mouse kya hai , What is mouse in hindi? , types of mouse

माउस क्या है? (Mouse Kya Hai?)

Mouse कंप्यूटर का एक Input Device है। जो USB PORT की मदद से कंप्यूटर System से जुड़ा रहता है। Mouse की सहायता से हम कंप्यूटर को कार्य के लिए Input Command प्रदान करते है। और कंप्यूटर Input आदेशों को पाकर कार्य करता है।

माउस Computer में दिखाई देने वाले Curser या Pointer को Control करता है। इस वजह से इससे Pointer Device के नाम से भी जाना जाता है। माउस के प्रयोग से Cursor को Screen मे कही भी ले जाया जा सकता है।

Mouse को हम अपनी हाथ की हथेली से पकड़ते है। हथेली से ही इसका प्रयोग भी करते है। जब भी User द्वारा माउस को किसी दिशा मे Move किया जाता है। उस समय Screen में उपस्थित Curser भी उसी दिशा मे Move होता है।

माउस के ऊपरी भाग पर दो या तीन बटन उपस्थित होते है। जिनके प्रयोग से Computer को Input आदेश दिया जाता है। माउस पर लगे इन बटनो के प्रयोग से User Computer को किसी Program, File, Data इत्यादि को Open, Close, Select इत्यादि आदेश देता है।

माउस के ऊपर Rotating Wheel भी होता है। जिसके प्रयोग से हम अपने Computer मे किसी Page को Page Up व Down कर पाते है। इस Wheel के प्रयोग से Image को Zoom In या Out भी किया जाता है।

Mouse की Full Form 

Computer Mouse को हम Pointer Device के नाम से भी जानते है। जिसके प्रयोग से Computer Pointer को नियंतित्र किया जाता है।

तो चलिए जानते है। कंप्यूटर MOUSE की Full Form क्या है?

  • M-Manually
  • O-Operated
  • U-Utility
  • S-Selecting
  • E-Equipment

MOUSE-Manually Operated Utility Selecting Equipment

माउस की Full Form का हिंदी में अर्थ "हाथ द्वारा सचलीत उपयोगित चयन उपकरण" है।

माउस की फुल फॉर्म हमे उसके कार्य करने की विधि को प्रदर्शित करती है। जिसका अर्थ है कि माउस कंप्यूटर का वह उपकरण है जिसके प्रयोग से उपयोगकर्ता अपने अनुसार किसी भी Program को Select कर सकता है। उसका प्रयोग भी कर सकते है।

Mouse की विशेषताएं (Characteristics of Mouse in Hindi)

Computer Users जानते है। कि माउस कंप्यूटर का एक एहम भाग है। जो User के कार्य को सरल करता है तो चलिए जानते है Mouse से जुड़े कुछ विशेष बातो के बारे मे,

  1. इस Device के प्रयोग से हम Computer को Select, Close, Page Up and Down जैसे Command प्रदान करते है।
  2. Mouse एक Input Device है।
  3. माउस का प्रयोग करना बहुत सरल होता है।
  4. Mouse एक Hardware Device होता है।
  5. USB Port के प्रयोग इसे किसी भी कंप्यूटर से जोड़ा जा सकता है।
  6. यह Keyboard के साथ मिलकर Input Command दे सकता है।


Mouse के जनक (Inventor of Mouse)

Computer Mouse का अविष्कार सन 1964 मे Doug Engelbart द्वारा किया गया। उस समय Engelbart Stanford Research Institute के एक कार्यकर्ता थे। इनके द्वारा बनाया गया दुनिया का पहला माउस लकड़ी से बना था।

जिसके ऊपर एक बटन लगा हुआ था और इस माउस को एक Electric Wire की सहयता से Computer System से जोड़ा जाता था।

Engelbart द्वारा बनाये माउस मे Cursor को नियंत्रण करने के लिए दो पहियों क्या प्रयोग किया गया। इनके प्रयोग से माउस को केवल चार Direction में Move किया जा सकता था 'ऊपर, नीचे और दांये, बांये' और File, Program को Select or Close करने के लिए। इस पर एक बटन लगाया गया था।

लकड़ी से बना यह माउस आज के माउस से बहुत अलग था। ये आकर में चौकोर व Size मे बहुत बड़ा था। और आधुनिक माउस की तरह ये सभी Direction मे Move नहीं कर सकता था।

Mouse के प्रकार (Types of Mouse)

Mouse के शुरुआत समय मे कंप्यूटर माउस लकड़ी से बना गया था। परन्तु समय के साथ साथ माउस के प्रकार मे विकास हुए और आज Mouse हमे पहले से बेहतर रूप में मिलता है। कंप्यूटर माउस के 6 प्रकार होते है। जिनके बारे में हम निचे चर्चा करेंगे।

1) Mechanical Mouse

Mechanical Mouse का अविष्कार सन 1972 में Bill English मे किया था। इस माउस में Cursor को Control करने के लिए एक Ball का प्रयोग किया जाता था इस लिए इससे Ball Mouse भी कहा जाता है।

इस Mouse को समतल सतह पर Move करने से, इसमें लगी Ball उस Direction में Move करने लगती थी। बाल के Movement से कंप्यूटर Cursor भी Move करने लगता था।

इस माउस को ज्यादा प्रयोग करने से इसमें सतह की Dust घुस जाती थी। जिस वजह से बॉल के Movement में Problem आने लग जाती और माउस को खोल कर Dust को साफ करना पड़ता था।

2) Optical Mouse 

Optical Mouse कम्प्यूटर मे सबसे ज़्यदा प्रयोग किये जाने वाला माउस है। इस माउस में बॉल की जगह पर एक LED Bulb का प्रयोग किया जाता है। इस माउस में लगी LED कंप्यूटर को (DSP) Digital System Processing के माध्यम से कंप्यूटर को माउस की Movement का Input देता है।

माउस द्वारा मिले Input के कारण Cursor Move करता है। Optical Mouse माउस वजन में हल्का होता है। और आसानी से उपलब्ध हो जाता है।

3) Wireless Mouse

Wireless Mouse दिखने मे Optical Mouse जैसा होता है। इस माउस को कंप्यूटर से जोड़ने के लिये Optical Mouse की तरह Electrical Wire का प्रयोग नहीं किया जाता। इसलिए इसे Chordless Mouse भी कहा जाता है।

यह माउस कंप्यूटर को Input प्रदान करने के लिए Radio Frequency का प्रयोग करते है। जिसके लिए इसमें  Transmitter और Reciever का प्रयोग होता है। Transmitter Device को माउस मे ही लगाया जाता है और Reciever को USB Port के जरिये Motherboard से जोड़ा जाता है।

इस माउस को कंप्यूटर सिस्टम से दूर बैठकर भी प्रयोग किया जा सकता है।

4) Trackball Mouse 

Trackball Mouse मे Cursor को नियंतित्र करने के लिए बॉल का प्रयोग किया जाता है। परन्तु अन्य माउस की तरह यह बॉल नीचे न होकर इसके ऊपर उपस्थित होती है।

इस बॉल को घुमाने के लिए User को अपनी अंगूठे व उंगलियो का प्रयोग करना पड़ता है। इस माउस पर कार्य करने में कठनाई होती है और कार्य मे बहुत अधिक समय होता है।

5) Stylus Mouse 

Stylus Mouse दिखने मे एक Pen के आकर का होता है। इसे Pen की तरह पकड़ कर ही प्रयोग किया जाता है। इसे माउस को समतल सतह पर Pen की तरह चलाने से Cursor मे हरकत होती है। इस माउस के ऊपर एक Wheel भी होता है जिसको Move करने से Computer मे Input दिया जाता है।

6) Gaming Mouse 

आज कल कंप्यूटर का प्रयोग Game खेलने में भी किया जाता है। इसको और मनोरंजन बनाने के लिए Gaming Mouse का प्रयोग किया जाता है। Computer Gaming Mouse का आकर बहुत आकर्षण होता है ये माउस बहुत जायदा Sensitive होते है और Input को System तक बहुत तेज़ी से भेजते है।

किसी साधारण माउस की तरह इसे दो या तीन बटनों का प्रयोग नहीं किया जाता। Gaming Mouse मे 6 से 10 बटनों का प्रयोग होता है। जिस कारण इनमे जायदा Input Command Feed होते है।

Mouse के फायदे 

  1. Mouse के प्रयोग से हम File, Program को Open, Close कर सकते है।
  2. Mouse के प्रयोग से Monitor Cursor को नियंतरण किया जाता है।
  3. इसके प्रयोग से काम बहुत सरल हो जाता है।
  4. एक Mouse को अनेक कंप्यूटर में प्रयोग किया जा सकता है।

Mouse की हनिया 

  1. Mouse को केवल Plane Surface पर प्रयोग किया जा सकता है।
  2. Wireless Mouse में बैटरी का प्रयोग होता है जिनके ख़तम होने के बाद नयी बैटरी लगानी पड़ती है।
  3. Trackball Mouse के प्रयोग से हाथो की उँगिलया में दर्द होने लगता है।

Mouse द्वारा होने वाले कार्य 

Mouse एक Input उपकरण है जो अपने बटन के जरिये कंप्यूटर को Input प्रदान करता है। तो चलिए जानते है। Mouse के कार्य क्या है

Computer Mouse द्वारा कुल पांच प्रकार के कार्य किये जाते है। जिन्हे आप नीचे देख सकते है।

Pointing 

Computer Mouse का प्रमुख कार्य Pointing करना है। इसलिए इसे Pointing Device भी कहा जाता है। Mouse को किसी समतल सतह पर Move करने से Monitor मे उपस्ति Cursor भी Move करता है।

Cursor को Mouse से Move कर के हम अपनी इच्छुक File, Folder, Icon, Program के ऊपर Point कर सकते है।

Selecting 

Mouse का दूसरा कार्य Selecting होता है। इस प्रक्रिया मे हम अपने इच्छुक File, Folder या Icon पर Mouse Cursor को Point करते है। किसी Icon या File पर Point करने के बाद माउस के Left बटन पर Click करने से Point किया हुआ Icon Select हो जाता है।

Drag and Drop 

Computer Mouse के प्रयोग से हम किसी भी File या Program को किसी अन्य Folder मे Drag and Drop की सहायता से Move कर सकते है।

Drag and Drop करने के लिए अपने Mouse से किसी File पर Left Click करे Left बटन को दबाये रखे और अपने Cursor को लेजाकर अन्य Folder पर Move करे और बटन को छोड़ दे।आप पयोगे की आपके द्वारा Select File अब अन्य Folder में चली जाती है।

Clicking 

Computer Mouse के बटनो को Click करके हम कंप्यूटर को एक से अधिक Input दे सकते है। जो इस प्रकार है।

Single Click 

Mouse मे Left Single Click करके आप System को एक Input दे सकते है। माउस के Left बटन को किसी Icon या File पर Single Click करे तो वह Select हो जाता है।

माउस मे Right बटन को Icon या Folder पर Single Click करने से File की Property को देखा जा सकता है। और अन्य अनेक option का भी चयन किया जा सकता है। जैसे Copy, Paste, open with इत्यादि।

Double Click 

माउस के बटन को एक समय में दो बार दबाना Double Click कहलाता है। माउस मे Double Click का प्रयोग Left बटन के लिए किया जाता है। Left बटन को Double Click करने से Selected Program open हो जाता है। और Document File मे Double Click से Text शब्द Select हो जाता है।

Triple Click 

माउस मे Triple Click का प्रयोग Left बटन के लिए किया जाता है। Mouse के बटन को एक साथ तीन बार दबाना Triple Click कहलाता है। और Left बटन को किसी Text Document मे तीन बार दबाने से Complete Paragraph Select हो जाता है।

Scrolling

कंप्यूटर माउस के ऊपर लगे Rotating Wheel को घुमाने के प्रकिर्या को Scrolling कहा जाता है। कंप्यूटर में किसे वेब पेज या डॉक्यूमेंट पर इस Wheel को Scorle करने से Page Up और Page Down किया जाता है। और किसी Image फाइल पर Scrole करके इमेज को Zoom In व Zoom Out किया जाता है।

आज आपने क्या सीखा 

इस आर्टिकल में आपने जाना की कंप्यूटर माउस क्या है?, माउस के प्रकार और साथ ही माउस के साथ जुडी अनेक जानकारिया आपने इस  पढ़ी होंगी।

हम आशा करते है। कि आपको यह आर्टिकल Mouse Kya Hai? अच्छा लगा हो और इसे पढ़कर आपको माउस के बारे में महतवपूर्ण जानकारी प्रदान हुई होगी।

अगर आप ऐसे ही कंप्यूटर से सम्बंधित आर्टिकल पढ़ने में रूचि रखते है। तो हमारे Site के अन्य आर्टिकल पढ़के अपनी कंप्यूटर मे रूचि बढ़ा सकते है। और ज्ञान प्राप्त कर सकते है क्योकि यह हम कंप्यूटर से जुडी जानकारियाँ डालते रहते है।

Post a Comment

0 Comments