Cache Memory क्या है? (What is Cache Memory in Hindi?), कैश मेमोरी के प्रकार और संपूर्ण जानकारी हिंदी में

दोस्तों, आज कंप्यूटर और मोबाइल हम में से सभी लोग इस्तेमाल करते हैं। इस टेक्नोलॉजी ने पिछले कुछ समय में बहुत विकास कर लिया है और कंप्यूटर को चलाते समय अपने यह ध्यान दिया होगा कि वह डिवाइस हैंग होकर या कभी-कभी स्लो कार्य करने लगता है, जिसका एक कारण कैश मेमोरी भी होता है।

कंप्यूटर में दो प्रकार की मेमोरी का प्रयोग किया जाता है। जिसे हम Primary Memory और Secondary Memory के नाम से जानते है। कंप्यूटर कैश प्राइमरी मेमोरी का एक भाग होता है और इस लेख में हम आपको यही बतायेगे की Cache Memory क्या है?

आप में से बहुत से लोगों ने कैश मेमोरी के बारे में जरूर सुना होगा। यह हमें कंप्यूटर और मोबाइल में देखने को मिल जाती है। तो क्या आप जानते हैं कि यह कैश स्टोरेज क्या है?, कैश मेमोरी के प्रकार और इसका कंप्यूटर और मोबाइल में क्या उपयोग है।

अगर आप नहीं जानते कैश मेमोरी क्या है? तो इस लेख को पूरा पढ़े। क्योकि इस लेख में कैश मेमोरी के ऊपर ही चर्चा करी गयी है। जैसे - कैश मेमोरी के प्रकार कितने होते है?, कंप्यूटर में इसका क्या प्रयोग है? और ऐसी ही अनेको जानकारी आपको इस लेख में मिल जाएगी।

Cache Memory क्या है? (What is Cache Memory in Hindi?), कैश मेमोरी के प्रकार और संपूर्ण जानकारी हिंदी में

तो चलिए जाने की Cache Memory क्या है? और Cache Memory के प्रकार कितने होते है?

Cache Memory क्या है? (What is Cache Memory in Hindi?)

कैश मेमोरी कंप्यूटर की सबसे तेज कार्य करने वाली मेमोरी होती है। यह कंप्यूटर प्रोसेसर में लगी होती है। यह मेमोरी कंप्यूटर में अधिकतर इस्तेमाल किए जाने वाले Program के Instruction Data को Store कर लती है और भविष्य में जब User द्वारा उस प्रोग्राम को दोबार Start करने की मांग होती है। तब यह मेमोरी उस प्रोग्राम के स्टोर Data Instruction को Processor तक बहुत तेज गति से भेजती है। जिससे कंप्यूटर बहुत तेज कार्य कर पाता है।

कैश मेमोरी प्रोसेसर मे उपलब्ध एक Fast मेमोरी होती है। जो किसी भी अन्य मेमोरी से बहुत तेज कार्य करती है। यह मेमोरी कंप्यूटर के RAM (Random Access Memory) तथा Hard Disk की मेमोरी से बहुत ज्यादा गति से कार्य करती है।

कैश मेमोरी के प्रकार (Types of Cache Memory)

Cache Memory प्रोसेसर के सबसे नजदीक होती है और ये एक फास्ट मेमोरी भी होती है। जिस कारण प्रोसेसर को यह बहुत फास्ट डाटा दे पाती है।

Cache Memory के तीन प्रकार होते हैं।

1.) L1 (Level 1) Cache Memory
2.) L2 (Level 2) Cache Memory
3.) L3 (Level 3) Cache Memory

L1 (Level 1) Cache Memory

L1 Cache Memory तीनों प्रकार की कैश मेमोरी में सबसे फास्ट मेमोरी होती है। यह मेमोरी साइज में सबसे छोटी भी होती है। इसका कुल साइज लगभग 2KB से 64 KB होता है।

एक छोटी साइज मेमोरी होने के कारण यह मेमोरी प्रोसेसर के हर Core में एक Chip के माध्यम से प्रस्तुत होती है। जैसे अगर आपका कंप्यूटर प्रोसेसर Dual, Quard कोर है। तो उसके हर Core में एक Inbuild L1 कैश मेमोरी लगी होगी।

L2 (Level 2) Cache Memory

L2 Cache Memory का दूसरा प्रकार है। यह मेमोरी L1 कैश मेमोरी की अपेक्षा कम गति से कार्य करता है। यह मेमोरी साइज में L1 मेमोरी से ज्यादा होती है।

L2 Memory का साइज 256KB से 512KB तक होता है। यह प्रोसेसर के कोर से बाहर उपस्थित होती है। जो एक High Speed Link Bus के जरिए कोर से Connect होती है।

L3 (Level 3) Cache Memory

L3 Cache Memory का तीसरा प्रकार है। यह मेमोरी L1 और L2 मेमोरी की अपेक्षा बहुत धीमी होती है तथा यह साइज में भी अन्य दोनों मेमोरी से बड़ी होती है।

इसका कुल साइज 1MB से लेकर 8MB तक होता है। यह मेमोरी प्रोसेसर में ना होकर मदरबोर्ड पर उपस्थित होती है। जो कि प्रोसेसर के सभी कोर से Connected रहती है।

Cache Hit और Cache Miss क्या है?

प्रोसेसर किसी इनपुट निर्देश के अनुसार Data Instructions को सबसे पहले Cache में ढूढ़ता है और इस Data के मिल जाने के बाद तेज गति से प्रोसेसर को भेज देता है। जिसे कंप्यूटर बहुत ज्यादा जल्दी कार्य कर पाता है।

उस समय क्या होगा अगर Cache Memory में वह डाटा इंस्ट्रक्शन स्टोर ही ना हो। इस से दो नए Concepts निकल कर आते हैं। जिन्हें हम Cache Hit और Cache Miss के नाम से जानते हैं। तो चलिए इनके बारे में जान लेते है।

Cache Hit

जब प्रोसेसर को Cache Memory में इनपुट निर्देश के Data Instructions मिल जाए। तो उसे Cache Hit कहा जाता है।

Cache Miss

जब प्रोसेसर को Cache Memory में इनपुट निर्देश के Data Instructions नहीं मिलते। उसे Cache Miss कहा जाता है।

Cache Memory कैसे कार्य करती है?

जब भी कोई इनपुट User द्वारा कंप्यूटर को मिलता हैं। वह इनपुट सीधा कंप्यूटर के दिमाग प्रोसेसर के पास जाता है। प्रोसेसर उस इनपुट के अनुसार उसके Data Instructions को कैश मेमोरी में ढूंढना शुरू कर देता है और डाटा मिल जाने के बाद उस प्रोग्राम को बहुत ही तेजी से System पर चला देता है।

कैश मेमोरी एक बहुत फास्ट मेमोरी होती है। जो प्रोसेसर को डाटा प्रदान (Data Feeding) बहुत ही तेजी से करा पाती है। जिसकी वजह से कंप्यूटर प्रोसेसर बहुत ही ज्यादा गति से कार्य कर पाता है।

अगर यह हो कि प्रोसेसर को कैश मेमोरी में Data Instructions ना मिल पाए। तब हम उसे Cache Miss कहते हैं और इस प्रस्तिथि में प्रोसेसर अन्य मेमोरी में डाटा ढूढ़ता है। वह फिर (RAM) मे उस इंस्ट्रक्शन को ढूंढता है। अगर इस मेमोरी में भी डाटा नहीं मिलता, तब वह सेकेंडरी मेमोरी हार्ड डिस्क में उस डाटा को ढूंढता है।

यह अन्य दोनों मेमोरी बहुत ही समय लगाती है। डाटा ट्रांसफर करने में, जिसकी वजह से प्रोसेसर अपनी पूरी गति पर कार्य नहीं कर पाता। जिस कारण सिस्टम Slow कार्य करता है।

Cache Memory इतनी कम क्यों होती है?

कंप्यूटर प्रोसेसर की कैश मेमोरी पर अपने ध्यान दिया होगा कि यह कैश मेमोरी अधिकतर 2, 3, 8,12 और 24 MB की Capacity मे ही क्यों उपलब्ध होती है? इतनी फास्ट मेमोरी होने के कारण क्यों इस से ज्यादा Capacity में नहीं उपलब्ध करवाया जाता।

इसका मुख्य कारण इस मेमोरी को बनाने में जो Manufacturing Cost लगती है। उसकी वजह से इसे इतनी कम कैपेसिटी में उपलब्ध करवाया जाता है। अगर यह मेमोरी ज्यादा कैपेसिटी में प्रोसेसर में उपलब्ध कराई जाए।

तो उससे प्रोसेसर कीमत बहुत ज्यादा ही बढ़ जाएगा। जो कि आम जनता के लिए खरीदना बहुत मुश्किल हो जाएगा। इसलिए इतनी कम कैपेसिटी में कैश मेमोरी प्रदान कराई जाती है।

Cache Memory के फायदे

  • ये मेमोरी कंप्यूटर की सबसे Fast व तेज कार्य करने वाली मेमोरी होती है।
  • कैश मेमोरी की डाटा ट्रांसफर गति बहुत ज्यादा अधिक होती है।
  • इसमें स्टोर किये गये डाटा का Access Time बहुत कम होता है।
  • ये मेमोरी कार्य के अनुसार अलग अलग Capacity में उपलब्ध होती है।

Cache Memory के नुकसान

  • कंप्यूटर में यह मेमोरी बहुत काम मात्रा में उपलब्ध होती है।
  • इस मेमोरी की Manufacturing Cost बहुत ज्यादा अधिक होती है।
  • कुछ कम कीमत वाले प्रोसेसर में कैश बहुत काम होती है।

आज अपने क्या सीखा

इस आर्टिकल में आप सभी ने जाना कि कैश मेमोरी क्या है? और कैश मेमोरी के प्रकार कितने होते है? और कैश मेमोरी से जुड़ी अनेक जानकारी भी आपने इस आर्टिकल में जरूर जानी होंगी।

तो ऐसी ही इंटरेस्टिंग टेक्नोलॉजी आर्टिकल पढ़ने के लिए आप हमारी साइट के अन्य आर्टिकल्स को भी पढ़ सकते हैं। अगर आपको यह आर्टिकल अच्छा लगा हो तो कमेंट करके जरूर बताएं और इसे ज्यादा से ज्यादा अपने परिवार और दोस्तों को शेयर करे।

Post a Comment

0 Comments