SSID क्या है? (SSID Kya Hai), SSID Kaise Banaye, SSID Ka Full Form और SSID Code Kya Hota Hai?

आज कंप्यूटर के आधुनिक युग में अनेको लोग Wi-Fi इंटरनेट का प्रयोग करते है। ये वाई-फाई इंटरनेट सरलता से किसी पासवर्ड के जरिए एक समय में अनेक उपकरणों से जुड़ जाता है। इस कार्य को सरल बनाने के लिए SSID का प्रयोग किया जाता है। आज इस लेख में हम यही जानेंगे की SSID क्या है? (SSID Kya Hai?) और SSID का फुल फॉर्म क्या है?

आप में से कुछ लोग अगर यह जानते है। की SSID Kya Hota Hai, SSID Kaise Banaye और SSID Ka Matlab  क्या है? तो यह एक अच्छी बात है। परन्तु SSID Kya Hai और इसके बारे में अधिक जानकारी प्राप्त करने के लिए आप इस लेख को पूरा जरूर पढ़े। क्योकि इस लेख में आप जानेंगे की SSID की मुख्य विशेषताए, SSID Network name Kaise pata Kare, एसएसआईडी के फायदे व नुकसान, SSID Ka Full Form इत्यादि।

एसएसआईडी कैसे बनाते हैं, नेटवर्क एसएसआईडी क्या है, एसएसआईडी का फुल फॉर्म, एसएसआईडी कोड क्या होता है, एसएसआईडी किसे कहते हैं, एसएसआईडी नेटवर्क का नाम, एसएसआईडी नेटवर्क क्या होता है, एसएसआईडी नंबर क्या होता है, एसएसआईडी कैसे बनाते हैं, एसएसआईडी कोड क्या है, ssid code kya hota hai, ssid hindi, ssid ka matlab, ssid ka full form, ssid ka matlab kya hai, ssid jiofi, ssid meaning in hindi, ssid network name kaise pata kare, ssid, नेटवर्क नाम, ssid kya hai, ssid network name kaise pata kare, ssid नेटवर्क नाम, ssid kya hai, SSID Kya Hai, What is SSID in Hindi?, What is SSID, Working of SSID in Hindi?, How To Change SSID Name, SSID क्या है?, SSID का कार्य क्या है?, SSID का फुल फॉर्म क्या है?, SSID की मुख्य कार्य, SSID कैसे बदले, SSID क्यों बदला जाता है?

तो चलिए जानते है। की SSID Kya Hai? और SSID Ka Full Form क्या है?

SSID का फुल फॉर्म क्या है? (SSID Ka Full Form Kya Hai?)

कंप्यूटर को इंटरनेट से जोड़ने के लिये अधिकतर लोग आज राऊटर व हॉटस्पॉट का प्रयोग करते है। इन राऊटर व हॉटस्पॉट उपकरणों में SSID का प्रयोग किया जाता है। SSID का फुल फॉर्म "Service Set Identifier" होता है।

SSID शब्द को अपने किसी मोबाइल के नेटवर्क सेटिंग में देखा होगा। इस शब्द के पूर्ण नाम का हिंदी अर्थ 'सेवा सेट पहचानकर्ता' होता है। जिसे यह पता चलता है की SSID का प्रयोग वई-फई नेटवर्क में पहचान करने के लिए किया जाता है। तो अब आप जान चुके होंगे की SSID Ka Full Form क्या होता है? तो चलिए अब जानते है की SSID क्या है?

SSID क्या है? (SSID Kya Hai?)

SSID को "Service Set Identifier" कहा जाता है। कंप्यूटर या मोबाइल उपयोगकर्ता इंटरनेट से जुड़ने के लिए जब अपने डिवाइस के वई-फई को ऑन करता है। उस समय उपयोगकर्ता के निर्धारित क्षेत्र में उपस्थित सभी वई-फई नेटवर्क के नाम उस डिवाइस पर दिखई देते है। और इन सभी नेटवर्क नामो को SSID's कहा जाता है।

SSID एक नेटवर्क नाम होता है। जिसे किसी राऊटर या हॉटस्पॉट द्वारा प्रसारित किया जाता है। यह नाम उस समय दिखई देता है। जब उपयोगकर्ता अपने डिवाइस के वई-फई को ऑन करता है। ये 32 या उसे काम अंको का नेटवर्क नाम होता है। जो किसी नेटवर्क को एक अलग पहचान प्रदान करता है। इस नाम की सहायता से अनेक नेटवर्क लिस्ट में से किसी निश्चित नेटवर्क को सरलता से ढूढ़ा जा सकता है।

किसी भी निश्चित वायरलेस नेटवर्क को दर्शाने या पहचानने के लिए उस नेटवर्क को एक नाम दिया जाता है। जिस प्रकार मनुष्य एक दूसरे को पहचाने के लिया नामो का प्रयोग करते है। उसी तरह नेटवर्क को पहचाने के लिए SSID का प्रयोग किया जाता है।

एसएसआईडी को Network Name, Wireless Network, Network ID इत्यादि नामो से भी जाना जाता है। सभी राऊटर व हॉटस्पॉट डिवाइस में SSID's नाम व पासवर्ड निर्माता कंपनी द्वारा पहले से सेव होता है। जिसकी जानकारी उस डिवाइस पर लगे स्टीकर पर लिखी होती है। उपयोगकर्ता बाद में अपने डिवाइस की SSID व पासवर्ड को बदल भी सकता है।

इन निर्माता कंपनी द्वारा सेव किए नेटवर्क नाम कुछ इस प्रकार के होते है। जैसे अगर आप JIO का हॉटस्पॉट डिवाइस इस्तमाल करे रहे है। तो उसका नाम JIO_FI होता है। उसी तरह TP-LINK के डिवाइस का नाम TP_LINK होता है। इन सभी SSID नामो के साथ साथ प्रत्येक डिवाइस का अपना एक अनोखा पासवर्ड भी होता है।

अन्य कंप्यूटर सम्बंदित लेख पढ़े :-


SSID की मुख्य विशेषताएँ क्या है?

  • SSID's किसी वायरलेस नेटवर्क को एक नाम प्रदान करता है।
  • प्रत्येक नेटवर्क ID's 32 या उसे कम अंको की होती है।
  • नेटवर्क नाम की सहायता से किसी नेटवर्क को पहचानने में सहायता होती है।
  • SSID's नाम बहुत संवेदनशील होते है। इसमें "HOME NETWORK" और "home network" को अलग अलग नाम माना जाता है।
  • कोई SSID's तब दिखई देता है। जब उपयोगकर्ता का डिवाइस नेटवर्क सीमा के भीतर होता है।

SSID’s Network Name Kaise Pata Kare in Hindi?

क्या आप अपनी डिवाइस से जुड़े एसएसआईडी नेटवर्क के नाम को पता करना चाहते हैं। तो इसके बारे में चलिए जानते है। किसी भी राउटर पर निर्माता कंपनी द्वारा उसके डिफ़ॉल्ट एसएसआईडी और पासवर्ड की जानकारी एक स्टिकर के माध्यम से राऊटर पर लगी होती है। जिसे पढ़कर आप अपने नेटवर्क आईडी को जान सकते हैं।

परंतु अगर किसी प्रकार से ये डिफॉल्ट एसएसआईडी बदलदी जाती है। तो राउटर पर लगा स्टीकर इसमें आपकी सहायता नहीं कर सकता इस मामले में आपको SSID को खुद मैनुअल बदलना पड़ेगा

तो चलिए जान लेते हैं। अलग-अलग डिवाइस में किस प्रकार SSID Network Name Kaise Pata Kare आगे अपने डिवाइस के अनुसार निमिन्लिखित कार्य को फॉलो करे।

Window System

किसी विंडो डिवाइस में सिस्टम से जुड़े एसएसआईडी को पता करने के लिए निम्नलिखित कार्य को करें।

1. अपने विंडो डेस्कटॉप पर जाए और नीचे दाये कोने पर दिये वई-फई आइकॉन पर क्लिक करें। इसके बाद यहाँ आपके सामने एक छोटी डिस्प्ले में सभी SSID's Network दिखए जाएगें।

2. आपके सामने उपलब्द सभी नेटवर्क के नाम डिस्प्ले में दिखई देंगे। जिसमें सबसे ऊपर उपलब्द SSID आपके डिवाइस से जुड़ा होगा।

Mac OS System

मैक डिवाइस में सिस्टम से जुड़े एसएसआईडी को पता करने के लिए निम्नलिखित कार्य को करें।

1. मैक ऑपरेटिंग सिस्टम में आप स्क्रीन के ऊपर दाये कोने पर उपलब्ध वाई-फाई आइकन पर क्लिक करके अपने क्षेत्र में उपलब्द सभी नेटवर्क नाम की लिस्ट देख सकते है।

2. इस नेटवर्क लिस्ट में आप जिस नेटवर्क से जुड़े होंगे। वह नीले वई-फई आइकॉन को दर्शाएगा।

Android System

एंड्राइड डिवाइस में सिस्टम से जुड़े एसएसआईडी को पता करने के लिए निम्नलिखित कार्य को करें।

1. एंड्रॉयड डिवाइस में अपने नेटवर्क लिस्ट को देखने के लिए आपको अपने डिवाइस की सेटिंग में जाकर वाई-फाई ऑप्शन पर क्लिक करें। यहां पर आप एसएसआईडी नेटवर्क देख सकते हैं।

2. एंड्राइड डिवाइस में आपके सिस्टम से जुड़े नेटवर्क के नीचे "Connected" लिखा होता है।

IOS System

आईओएस डिवाइस में सिस्टम से जुड़े एसएसआईडी को पता करने के लिए निम्नलिखित कार्य को करें।

1. आईओएस डिवाइस में एसएसआईडी लिस्ट देखने के लिए। आप अपने फोन की सेटिंग में जाएं और वाईफाई ऑप्शन पर क्लिक करें। जिसके बाद आपके सामने एसएसआईडी लिस्ट डिस्प्ले पर दिखाई देंगे।

2. जिस नेटवर्क से आपका डिवाइस जुड़ा होगा। उसके नीचे एक चेक मार्क का चिन्ह दिखाई देगा।

अन्य सम्बंदित लेख पढ़े :-


राऊटर में SSID कैसे बनाए व बदले (SSID Kaise Banaye)

सभी इंटरनेट यूजर व सिक्योरिटी एक्सपर्ट का ये सुझाव रहता है। कि हमें अपने नेटवर्क का नाम डिफ़ॉल्ट नहीं रखना चाहिए। यूजर को अपने नेटवर्क का नाम समय-समय पर बदलते रहना चाहिए। यह कार्य इसलिए जरुरी है। क्योकि एक जैसे नाम के अधिक नेटवर्क यूजर को नेटवर्क पहचाने में समस्या पैदा करते है। इस वजह से यूजर का डिवाइस असुरक्षित रहता है।

तो चलिए कुछ सरल प्रकिर्या को अपने डिवाइस में करके इस समस्या का हल करते है और जानते है। राऊटर में SSID Kaise Banaye जाती है। अपने राऊटर में नया SSID नाम बनाने के लिया निम्नलिखित प्रकिर्याओ का पालन करे।

STEP 1 :- राऊटर के I.P Address को पता करे।

प्रत्येक राउटर कंपनी द्वारा एक वेब एडमिनिस्ट्रेटिव सेटिंग हर राऊटर को प्रदान होती है। इस सेटिंग को ओपन करके आप अपने राउटर के एसएसआईडी और पासवर्ड को चेंज कर सकते हैं। परंतु ऐसा करने के लिए आपको सबसे पहले राउटर का Local IP Address पता करना पड़ेगा। राउटर के आईपी ऐड्रेस को दो सरल तरीकों से पता कर सकते हैं।

1. राऊटर के आईपी एड्रेस को पता करने के लिए। प्रत्येक राउटर के ऊपर एक स्टीकर लगा होता है। इस स्टीकर के ऊपर राउटर के आईपी एड्रेस व पासवर्ड से संबंधित सभी जानकारी लिखि होती हैं। जिसे पढ़कर आप राउटर के आईपी ऐड्रेस को जान सकते हैं।

2. अगर किसी कारण आपको राउटर पर स्टीकर ना मिले। तो आप इस दूसरी प्रक्रिया को फॉलो कर सकते हैं। सबसे पहले कंप्यूटर विंडो पर जाएं। और Window + R क्लिक करे। आप देखेंगे कि रन विंडो ओपन हो चुकी है। रन विंडो में CMD टाइप करके एंटर दबाए। जिसके बाद कमांड विंडो ओपन हो जाऐगी। कमांड विंडो में ipconfig टाइप करके एंटर करे। जिसके बाद आपको स्क्रीन दाये कोने में राऊटर IP Address दिख जाएगा।

STEP 2 :- राऊटर के एडमिनिस्ट्रेटिव में लॉग इन करे

राऊटर के एडमिनिस्ट्रेटिव पेज में प्रवेश करने के लिए। आपको कंप्यूटर ब्राउज़र में रोटर के IP Address को Search करना पड़ेगा। जिसके बाद एक लॉग इन पेज आपको दिखेगा। जिसमे आप से यूजरनाम और पासवर्ड की माग की जाएगी।

लॉग इन होने के लिए आप यूजरनाम में "Admin" टाइप करे और पासवर्ड में भी "Admin" टाइप करके एंटर करे। जिसके बाद आप एडमिनिस्ट्रेटिव पेज में लॉग इन हो जाएगे।

STEP 3 :- राऊटर के SSID व पासवर्ड को बदले

अब आप समाप्त कार्य पर आ चुके है। एडमिनिस्ट्रेटिव पेज में लॉग इन होने के बाद इस पेज में नेटवर्क नाम या पासवर्ड नामक ऑप्शन को ढूढ़ कर उस पर क्लिक करे। इसके बाद आपके सामने नया पेज ओपन होगा जहा आप अपने नेटवर्क के SSID नाम व पासवर्ड को बदल सकते है।

तो अब तक आप जाने चुके होंगे की SSID Kya Hai? और SSID Kaise Banaye?

SSID नाम बदलना क्यों जरुरी है?

सिक्योरिटी एक्सपर्ट के सुझाव के अनुसार यूजर को अपने नेटवर्क नाम या SSID को बदलना जरूरी होता है। ऐसा करना इसलिए जरूरी होता है। क्योंकि एक क्षेत्र में एक जैसे अनेक नाम के नेटवर्क बहुत समस्या पैदा कर सकते हैं। जैसा मान लीजिए की आपके घर के नेटवर्क का नाम "HOME" है। और यही "HOME" नाम आपके पड़ोसी के नेटवर्क का भी है। इस कारण आपको अपने नेटवर्क को पहचानना में कठिन होगी।

एक जैसे नाम के नेटवर्क आपके कंप्यूटर को असुरक्षित बनाते हैं। क्योंकि आप नहीं पहचान पते की आपको किस नेटवर्क से जुड़ना है। इस बात का फायदा हैकर उठा सकते हैं। और आपका सिस्टम किसी भी Evil Twin नेटवर्क हैकिंग का शिकार बन सकता है।

जिस वजह से आपका सिस्टम असुरक्षित रहता है इसलिए आपको अपने नेटवर्क का नाम समय-समय पर बदलते रहना चाहिए।

अन्य सम्बंदित लेख पढ़े :-


SSID के फायदे (Advantages of SSID)

  • SSID's नाम की सहायता से यूजर अपने व दूसरे नेटवर्को में सरलता से पहचान कर पाता है।
  • किसी राऊटर के नेटवर्क नाम को उपयोगकर्ता अपने बदल सकता है।
  • SSID's किसी नेटवर्क को सुरक्षित रखने में सहायता प्रदान करता है।

SSID के नुकसान (Disadvantages of SSID)

  • किसी साधारण नेटवर्क नाम को एक निश्चित सीमा तक प्रसारित किया जा सकता है।
  • एक जैसे नाम के अनेक नेटवर्क यूजर को नेटवर्क की पहचान करने में समस्या उत्पन करते है।
  • समान नाम के अनेक नेटवर्क सिस्टम को असुरक्षित बनाते है। जिस वजह से सिस्टम को हैक किया जा सकता है।

आज अपने क्या सीखा

इस लेख में हमने बताया है की SSID क्या है? (SSID Kya Hai?), SSID Ka Full Form Kya Hai, SSID Network Name Kaise Pata Kare और एसएसआईडी से जुडी अनेको जानकारियाँ आपने इस लेख में जरूर जानी होगी।

तो हम आशा करते हैं, कि आपको अब यह जानकारी हो गई होगी कि SSID Kya Hota Hai और SSID Kaise Banaye, SSID Ka Matlab, SSID Code Kya Hota Hai इत्यादि। अगर आपको ये लेख अच्छा लगा तो  इस Article को अधिक से अधिक अपने दोस्त, परिवार में रिलेटिव्स के साथ शेयर करें।

Post a Comment

2 Comments