Motherboard क्या है?, मदरबोर्ड के प्रकार व कार्य क्या है? - What is Motherboard in Hindi?

Computer अनेक उपकरणों से मिलकर बना है जिनमे से एक Motherboard होता है।आज हम आपको यह बताएंगे की कंप्यूटर Motherboard kya hai  व Motherboard के प्रकार कितने है।

अगर आप जानना चाहते है कि Motherboard क्या है? वो इस आर्टिकल को पूरा पढ़े क्योकि इसमें हमने Motherboard क्या है और Motherboard से जुडी अनेको जानकारिया प्रदान की हुई है।

Motherboard हमारे कंप्यूटर के सभी उपकरणों को एक साथ जोड़ के रखता है ये एक माँ के समान कार्य करता है। जिस प्रकार माँ अपने परिवार को संभालती है उसी तरह Motherboard भी कंप्यूटर उपकरणों  को अपने Port के जरिये संभालता है।

कंप्यूटर के शुरुआती समय से लेकर अब तक Motherboard का प्रयोग किया जा रहा है और समय के साथ साथ इसमें अनेक विकास हुए है जिनपर हम आगे चर्चा करेंगे।

तो चलिए जानते है Motherboard क्या है। 

Motherboard kya hai in hindi , types of Motherboard , motherboard  क्या है

Motherboard क्या है? (What is Motherboard in Hindi?)

Motherboard कंप्यूटर Cabinet box मे उपलब्ध या उपस्थित एक पतली Electrical Plate होती है। इस Plate के ऊपर कंप्यूटर अनेक अन्य उपकरण जुड़े होते है जिन्हे कंप्यूटर द्वारा कार्य अनुसार प्रयोग किया जाता है।

Motherboard पर कंप्यूटर के Input व output Device को जोड़ा जाता है।अब सभी उपकरणों को जोड़ने के लिए Motherboard पर अनेक Port होते है जिनके प्रयोग से इन् सभी उपकरणों को जोड़ा जाता है जैसे- RAM, ROM, HDD, SSD इत्यादि।

कंप्यूटर मदरबोर्ड सभी उपकरणों के बीच एक Communication link बनाता है जिस कारण सभी उपकरण Processor से जुड़े रहते है। और User आदेश द्वारा ये सभी मिलकर कार्य करने लगते है।

मोठेर्बोर्ड पर RAM और ROM मेमोरी भी लगाई जाती है। जिसे कंप्यूटर की कार्य गति बढ़ जाती है और Booting प्रक्रिया में सहयता होती है। कंप्यूटर मदरबोर्ड को Main board, Base,Printed Circuit Board, Wired Board नामो से भी जाना जाता है।

Motherboard का इतिहास (History of Motherboard)

कंप्यूटर के विकास के साथ साथ मदरबोर्ड का भी विकास हुआ।और शुरुआत से लेकर अब तक इसमें अनेको परिवर्तन आये तो चलिए जानते है Motherboard का इतिहास 

कंप्यूटर मदरबोर्ड को सबसे पहले IBH द्वारा बनाया गया। सन 1981 में "Planer" Breadboard पहला कंप्यूटर Motherboard बना जिसमे केवल एक Processor और कुछ Memory slots थे। Technology के Advance होने के साथ साथ Motherboard मे बहुत से विकास हुए और आज मदरबोर्ड में अनेक Memory slot और port देखे जा सकते है।

Advance Technology के चलते मदरबोर्ड में कुछ बदलाव भी कर सकते है।

Motherboard के प्रकार 

आज कंप्यूटर मदरबोर्ड बहुत से Structure व Formation मे उप्लब्ध होते है ये board कार्य और के कीमत के अनुसार भी हमे मिलते है।

तो चलिए Motherboard के प्रकार मे जाने 

कंप्यूटर Motherboard को Structure के आधार पर कुल दो प्रकार मे बांटा गया है  वह ये है।

  1. Integreated Motherboard 
  2. Non-Integreated Motherboard 

Integreated Motherboard 

जिस Motherboard मे अनेक Input और Output Device को जोड़ने के लिए बहुत से Port उप्लब्ध होते है उन्हें Integreated Motherboard कहा जाता है।

इस प्रकार के Motherboard मे RAM, Hard Disk, Processor इत्यदि जोड़ने के लिए निश्चित Port प्रदान होते है और किसी भी उपकरण के खराब होने के बाद उसे सरलता से बदला जा सकता है। Integreated Motherboard का प्रयोग हमारे कंप्यूटर और लैपटॉप में किया जाता है।

Non-Integreated Motherboard 

जिस Motherboard मे अन्य Device जोड़ने के लिए Port उप्लब्ध नहीं होते उन्हें Non-Integreated Motherboard कहा जाता है।

इस प्रकार के Motherboard मे RAM,ROM, Processor को Motherboard के निर्माण के समय Board के ऊपर Solding कर दिया जाता है जिसे सरलता से हतया नहीं जा सकता। इस प्रकार के Motherboard का प्रयोग हमारे Phone, Tablet इत्यदि मे किया जाता है।

Motherboard की विशेषताएं 

Motherboard हमारे कंप्यूटर का एक महतवपूर्ण भाग होता है जिसका प्रयोग हर प्रकार के कंप्यूटर में किया जाता है। तो चलिए जानते है Motherboard की विशेषताएं 

  1. Motherboard पर कंप्यूटर के सभी महतवपूर्ण Devices जुड़े होते है।
  2. Motherboard से एक साथ अनेक Input और output devices जोड़े जा सकते है।
  3. Motherboard पर ROM पहले ही उपस्थित होती है जिसमे कंप्यूटर Booting software लगे होते है।
  4. Motherboard पर लगे Devices Hardware के खराब होने पर बदले जा सकते है।
  5. Motherboard एक साथ सभी Devices को Power supply कर सकता है।

Motherboard के विभिन भाग और उनके कार्य 

Computer के सभी Devices को एक साथ जोड़ने के लिए Motherboard अनेक भाग मे बांटा होता है जो भाग मिलकर कार्य करते है।

तो चलिए Motherboard के भाग व् उनके कार्य जानते है।

CPU Socket 

कंप्यूटर के दिमाग अथार्त CPU को Motherboard पर लगाने के लिए एक अलग Socket प्रदान होता है। और इस Socket पर CPU को रखकर लॉक कर दिया जाता है जिसे वह Motherboard से connect हो जाता है। Motherboard CPU Socket को बोर्ड पर उपस्थित अन्य Devices से जोड़कर रखता है।

RAM Slots 

कंप्यूटर Motherboard पर RAM Memory को लगाने के लिए RAM slots होते है। जिनमे RAM stick को लगाया जाता है। Motherboard की किमत व कार्य के अनुसार ये Slots ज़्यदा व कम होते है।

Input और output Ports 

कंप्यूटर में input लेने व Result देने के लिए Input और output Devices का प्रयोग करना होता है। कंप्यूटर को इन Devices जो जोड़ने के लिए Port उप्लब्ध होते है इन port का प्रयोग से हम अपने Input और output Devices को जोड़ सकते है।

Power Supply Connector 

Motherboard पर लगे उपकरणों को चलने के लिए Electricity चाहिए होती है। इसके लिए बोर्ड पर एक 20 से 22 Pin वाला Connector होता है। जिसे SMPS (Switch mode Power supply) से जोड़ा जाता है और ये हमारे Motherboard को Power देता है जिसे अन्य उपकरण कार्य कर पाते है।

North bridge 

North Bridge को Host Bridge भी कहा जाता है ये एक Microchip होती है। जो CPU से जुडी रहती है इसका कार्य computer RAM, Hard disk, ROM को जोड़कर Computer CPU से कनेक्ट करना होता है।

South bridge 

South bridge Motherboard पर एक IC Chip के रूप मे उपस्थित होता है इसका मुख्य कार्य Input और Output Devices के Function को मैनेज करना होता है और ये Bridge North Bridge से जुड़ा रहता है।

Expension Card Slots 

ये Motherboard का वह Slot होता है जहा User अतिरिक्त कार्ड का प्रयोग करता है।इस slot के प्रयोग से PC Upgrade में सहायता मिलती है इस slot से User Sound card, Video card, Audio card इत्यादि लगा सकता है।

CMOS Battery 

CMOS का फुल फॉर्म Complementry Metal Oxide Semi-Conductor होता है। ये एक Battery होती है जिसका कार्य System के बंद हो जाने पर Time या Date जैसे महतवपूर्ण जानकारी को स्टोर करके जारी रखना होता है।जिसके प्रयोग से कंप्यूटर में Date या Time सही चलते रहते है चाहे कंप्यूटर बंद क्यों न हो जाए।

Heat Sink 

Motherboard के लगातार कार्य करने की वजह से Processor व North bridge गर्म हो जाता है और इनके Temperature को कम करने के लिए एक Metal का उपकरण प्रयोग होता है जिसे Heat sink कहा जाता है। इसके प्रयोग से Processor व North bridge को ज़्यदा गर्म होने से बचाया जाता है।

IDE Connector 

IDE की फुल फॉर्म Integreated Drive Electronic है। ये Motherboard मे Hard drive और Optical drive से Connect किया जाता है परन्तु बहुत धीमे और चोड़े होने के कारण इसकी जगह पर अब SATA Connector का प्रयोग किया जाता है। ये IDE  से तेज़ और size मे बहुत छोटे होते है।

RAM and BIOS 

कंप्यूटर को Start करने में प्रयोग होने वाले Software को Permanent स्टोर करने के लिए RAM  का प्रयोग किया जाता है। जिसे Motherboard पर एक चकोर IC Chip के रूप मे लगाया जाता है।

Motherboard के कार्य 

कंप्यूटर  Motherboard के मुख्य कार्य-

Central Communication Link 

Motherboard कंप्यूटर के सभी Device को अपने Electrical board से जोड़कर रखता है और ये सभी Devices एक साथ जुड़े होने के कारण एक दूसरे से संपर्क बना पाते है।

कंप्यूटर Motherboard Devices के इस Link को CPU  से जोड़कर रखता है जिसे User input के अनुसार सभी Devices से मिलकर कार्य करवाता है। 

External Periphericals Connection

कंप्यूटर Motherboard मे लगे Port कि सहायता से बहारी उपकरणों को जोड़ सकता है जिसे Mouse, Keyboard Printer इत्यदि और Motherboard इनके कार्य के Data को सचलीत भी करता है जिसे यह सभी डिवाइस कार्य कर पाते है। 

Power Supply 

Motherboard पर कंप्यूटर के सभी मुख्य भाग जैसे RAM, ROM, CD Drive इत्यदि लगे होते है। और इन सभी उपकरणों को कार्य करने के लिए बिजली की अवस्य्क्ता होती है। तो Motherboard कंप्यूटर के SMPS से Connect होकर कंप्यूटर के सभी उपकरणों को Electricity या Power भी प्रदान करता है। 

Data Flow Control 

Motherboard से सभी Device जुड़े होने के कारण यह कंप्यूटर का Communication hub कहलाता है। ये कंप्यूटर के सभी Devices से data भेजता व लेता है इसी की सहायता से सभी उपकरण Data Recieve व Send कर पाते है। 

Store BIOS 

BIOS  को Basic input output system कहा जाता है। ये एक प्रकार का Program होता है। जिसे Motherboard पर लगे Permanent Memory ROM मे स्टोर किया जाता है।  BIOS के प्रयोग से कंप्यूटर Booting और Input और output function कार्य करते है।

Computer Motherboard कैसे चुने 

अगर आप सोच रहे है किसी नए Motherboard को खरीदने की तो उस समय आप को कुछ बातो पर ध्यान रखना चाहिए।  जो इस प्रकार है-

  1. Motherboard को अपने कार्य अनुसार चुने अथार्त आप किस प्रकार के कार्य उस Motherboard पर करेंगे। 
  2. Motherboard चुनते समय CPU Socket chipset पर ध्यान दे अथार्त आप किस Chipset वाले CPU को उस Motherboard से जोड़ना चाहते है। 
  3. Motherboard को खरीदते समय अपने कार्य अनुसार निश्चित RAM Slot वाले Motherboard चुने। 
  4. ज़्यदा Socket व Port वाले Motherboard से आप अधिक Devices जोड़ सकते है। 
  5. Motherboard चुनते समय उन Motherboard को खरीदे जिनमे Future Upgrading की Possibility अधिक हो। 

Motherboard बनाने वाली कम्पनिया 

अब तक आपने जान लिया है की Motherboard क्या है? तो चलिए जान लेते है।  Motherboard बनाने वाली कुछ मशहूर कंपनियों के बारे मे-

  1. Gigobyte
  2. Zebronics
  3. Asus
  4. MSI
  5. Acer
  6. Biostar


Motherboard के फायदे 

  1. ये कंप्यूटर के सभी Devices के बिच Communication link को बनती है। 
  2. ये कंप्यूटर मे External Device जोड़ने के लिए Port बनती है। 
  3. Motherboard कंप्यूटर System मे जरूरत के अनुसार Power प्रदान करता है। 

Motherboard के नुकसान 

  1. ज़्यदा Port प्रदान करने वाले Motherboard बहुत अधिक महंगे होते है। 
  2. Motherboard पर Devices को Connect करने के लिए निश्चित Port होते है और उनके पुरे भर जाने के बाद और device नहीं लगाया जा सकता। 
  3. Motherboard पर Dust व पानी पड़ने पर वह जल्दी खराब हो जाता है। 

आज आपने क्या सीखा 

आज इस आर्टिकल मे आपने सीखा की कंप्यूटर Motherboard क्या है व Motherboard के कितने प्रकार होते है? हम आशा करते कि आपको हमारे ये आर्टिकल Motherboard kya hai? अच्छा लगा होगा और इसे पढ़कर आप Motherboard से जुडी अनेक जानकारिया प्राप्त की होगी। 

अगर यह जानकारी आपको अच्छी लगी हो तो इसे अपने दोस्तों व परिवार के साथ शेयर करे और ऐसी ही कंप्यूटर संबंधित जानकारिया पाने के लिए हमारी साइट के अन्य आर्टिकल को पढ़ सकते है।

Post a Comment

0 Comments